Tuesday, September 7, 2010

आसान है ईश्वर होना

ईश्वर होना
बहुत आसान है
क्योंकि
वहां होना होता है
सभी संवेदनाओं से परे
सभी भावनाओं से ऊपर
और कष्ट देती हैं
यही संवेदनाएं
यही भाव

अच्छा है ईश्वर
हो तुम
सभी प्रभावित करने वाले
भावों से ऊपर

लेकिन
मेरे ईश्वर
ए़क बार मेरे ह्रदय में
देखो करके वास
जान जाओगे तुम
प्रेम करना
अधिक कठिन है
ईश्वर होने से

8 comments:

  1. अच्छी पंक्तिया है .....

    अपने विचार प्रकट करे
    (आखिर क्यों मनुष्य प्रभावित होता है सूर्य से ??)
    http://oshotheone.blogspot.com/2010/09/blog-post_07.html

    ReplyDelete
  2. सच में, ईश्वर मान लेना आसान है।

    ReplyDelete
  3. ईश्वर ने तो मानव का मन पाकर जीया है... राम, कृष्ण .... राम और कृष्ण के आंसू दरअसल हम नहीं देखना चाहते , वे समर्थ हैं , ये हैं, वो हैं मान लेते हैं ..... पर यादों से परे होना कहाँ आसान है !

    ReplyDelete
  4. वाह मित्र वाह ...बधाई

    ReplyDelete
  5. बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति ..

    ReplyDelete
  6. ये बात तो है………………।प्रेम की डगर तो होती ही पथरीली है……………बेहद सुन्दर भाव्।

    ReplyDelete
  7. वाह क्या बात कही है ... सच है प्रेम करना कठिन है ...

    ReplyDelete
  8. बहुत पसन्द आया
    हमें भी पढवाने के लिये हार्दिक धन्यवाद
    बहुत देर से पहुँच पाया ...............माफी चाहता हूँ..

    ReplyDelete